Wednesday, October 5, 2022
spot_img

धनखड़ जी उप राष्ट्रपति होंगे

-सावित्री पुत्र वीर झुग्गीवाला (वीरेन्द्र देव), पत्रकार, देहरादून

वर्तमान समय में पश्चिम बंगाल के राज्यपाल के पद का कर्तव्य निभाने वाले जगदीप धनखड़ साहब अगले उप राष्ट्रपति होंगे। उन्हें कोई नहीं हरा सकता। उनकी जीत तय है। अच्छा होता कि उन्हें निर्विरोध चुन लिया जाता। अच्छा तो यह भी रहता कि मुर्मू जी को निर्विरोध राष्ट्रपति चुन लिया गया होता। राजनीतिक दुराग्रहों का दौर चल रहा है। पूर्वाग्रह तो बहुत मामूली सी बात है। यह दुराग्रही राजनीति देश की प्रगति के लिए खतरनाक है। व्यक्तिगत महत्वाकाँक्षा का युग समाप्त नहीं हो रहा है। व्यक्तिगत महत्वाकाँक्षा वाला देश महान नहीं हो सकता। यदि भारत को सचमुच प्राचीन काल की तरह महान देश बनना है तो राजनीति में व्यक्तिगत महत्वाकाँक्षा वाले लोगों का बहिष्कार होना चाहिए। महत्वाकाँक्षा वही अच्छी होती है जो राष्ट्रगत हो। इसका मतलब यह है कि राष्ट्र के लिए व्यक्तिगत हितों का बलिदान कर देना। आज के दौर में व्यक्तिगत महत्वाकाँक्षा राजनीति के केन्द्र में है। जगदीप धनखड़ साहब बहुत संयमी व्यक्ति हैं। उन्होंने ममता जैसी अराजकता वाली मुख्यमंत्री का सामना किया है। कभी अपना मानसिक सन्तुलन नहीं खोया। जो कहना होता है उसे वह स्पष्ट कह देते हैं। वह इतने विनम्र हैं कि ममता बनर्जी के सामने भी झुक जाते हैं। जबकि यह नारी उनके सामने कभी नहीं झुकती। इतना दम्भ है इस नारी को। अब देश को पता लग गया है कि तृणमूल कांग्रेस, कांग्रेस के सिक्के का ही दूसरा पहलू है। जिसकी जान भ्रष्टाचार में बसती है। इतना भयानक भ्रष्टाचार खुल कर सामने आ गया है फिर भी इस नारी के तेवर वही हैं। अगर इस नारी के अन्दर थोड़ा सा भी नैतिकता होती तो अभी तक इस्तीफा दे चुकी होती। देश भ्रष्टाचार की गिरफ्त में है। भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने के लिए प्रधानमंत्री मोदी संकल्प शक्ति का परिचय दे रहे हैं। लेकिन विपक्ष इस पवित्र काम में भी उनका साथ नहीं दे रहा है। यह देश का दुर्भाग्य है। विकास के साथ-साथ भ्रष्टाचार का विनाश भी बहुत आवश्यक है। रेवड़ी कल्चर का सर्वनाश भी बहुत जरूरी है। मौजूदा दौर में केजरीवाल रेवड़ी कल्चर का बेताज बादशाह बना हुआ है। इस बादशाह को मार गिराना होगा वरना विकास की रफ्तार गिर जाएगी। यह अदूरदर्शी और स्वार्थी आदमी ममता बनर्जी की तरह प्रधानमंत्री बनने का स्वप्न पाले हुए है। यह स्वप्न पालना कोई बुरी बात नहीं है लेकिन इनके अंदाज और तौर तरीके देश के लिए बहुत खतरनाक हैं। बहरहाल, जगदीप धनखड़ साहब की पश्चिम बंगाल से मुक्ति बहुत जरूरी है। उनका उप राष्ट्रपति बनना हमारे लिए गौरव की बात होगी। वे अवश्य ही उप राष्ट्रपति बनने जा रहे हैं।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,514FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles